बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ के लिए वाहिद अली ने दान की जमीन

बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ के लिए वाहिद अली ने दान की जमीन

 

 

नीरज पाण्डेय दिल्ली । हमारे देश में जहां लड़कियां आज भी किसी क्षेत्र में लड़कों से कम नही आकी जाती हैं वहीं अधिकांश लोग लड़की और लड़कों में भेद भाव कर बेटी को पराया धन एवं बेटों को कुल का दीपक मान कर बेटियों को नज़र अंदाज करते हैं। ऐसे में लिंग अनुपात बहुत बढ़ गया है खास कर ग्रामीण क्षेत्रों में जहां आज भी बहुत से लोग रूढ़िवादी विचारधारा के शिकार हैं तथा गरीब है वहां आज भी लड़कियों के स्वास्थ , शिक्षा और पोषण को अनदेखा कर उन्हें घर के कामों में लगा दिया जाता है और वह अशिक्षित रह जाती हैं ।
जबकी देश में लड़कियों की घटती संख्या को बढ़ाने तथा उन्हें शिक्षित बनाने हेतु भारत सरकार द्वारा शुरू किये  गये  बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ  अभियान के अंतर्गत यूरोफैब्स वाटरटैंक के संस्थापक वाहिद अली ने पहल करते  हुए ग्राम हल्दी खुर्द पोस्ट मीरगंज जिला बरेली उ.प्र.” स्थित अपनी 1100 गज निजी जमीन जमीन आलम शिक्षा  अकादमी को स्कूल बनाने के लिये दान में दी है |

यूरोफैब्स वाटर टैंक के संस्थापक वाहिद अली ने बताया की गावों मे आज भी खास कर गरीब लोग अपनी बेटियों को पढ़ा नहीं पाते हैं |  गरीब और रूढ़ीवादी परिवारों की लड़कियों को शिक्षा के प्रयाप्त औसर मिल सकें इसके लिए वाहिद अली ने स्कूल निर्माण हेतु जमीन दान किया है |  उन्होंने बताया कि इस स्कूल में आर्थिक रूप से कमजोर परिवारों की बच्चियों को निशुल्क प्रवेश दिया जायेगा इसके अलावा उन्हें किताब,कापी, रहने ,खाने की निशुल्क सुबिधा भी होगी तथा स्कूल में योग्य शिक्षकों की ब्यवस्था भी की जाएगी |  वाहिद  अली ने बताया की पढ़ाई लिखाई के अलावा  कढ़ाई, बुनाई, सिलाई आदि भी सिखाया जायेगा तथा इस स्कूल में स्टाफ भी महिलाएं होगी जिससे बच्चियों की पूर्ण सुरक्षा सुनिश्चित की जा सके।
31 वर्षीय वाहिद ने बताया कि जब वे बच्चियों को पढ़ाई करने के उम्र मे काम करते देखते है और परिजनों से यह सुनने को मिलता है की लड़की है बाहर कोई ऊँच नीच हो जाय इससे तो घर में ही रहे यह सुनकर उनके मन को बहुत कष्ट होता था |  जिससे छुब्ध होकर उन्होंने बेटी पढ़ाओ बेटी बचाओ अभियान के अंतर्गत अपनी  एन जी ओ  यूरोफैब्स एकाडमी के माध्यम से बचियों की  निशुल्क शिक्षा के लिए इस स्कूल के निर्माण हेतु पहल की है |

Related Articles

Back to top button